Home | Change Direction With Direction | छत के उपर पानी की टैंकी (Overhead Water Tank)

Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

छत के उपर पानी की टैंकी (Overhead Water Tank)

Font size: Decrease font Enlarge font

बोरिंग के बाद छत पर बनी पानी की टैंकी बहुत महत्त्वपूर्ण है। बोरिंग से पानी आप छत पर बनी पानी की टैंकी में भरते हैं। इससे छत पर रखी टैंकी उस दिशा में ऊँचाई व भार प्रदान करती है। यह पानी की टैंकी विभिन्न प्रभाव परिवार पर डालती है।

1.  उत्तर

आप उत्तर दिशा में ऊँचाई व भार नही दे सकते हैं। य​िद आप यहाँ पर पानी की टैंकी रखते हैं तो पेशा प्रभावित होगा। धन का आगमन रूक-रूक कर होगा। मार्किट से पैसे टूट-टूट कर आएंगें, ढूब भी सकते हैं। व्यवसाय में घाटा उठाना पड़ेगा। नौकरी-पेशे में शक्ति व स्थिरता कम हो जाएगी। नौकरी-पेशा आप बदलते रहेंगे।

2.  उत्तर-पूर्व

यहाँ पर पानी की टैंकी की सबसे खराब स्थिती है। यदि आप उत्तर-पूर्व में छत पर पानी की टैंकी बनाएंगे तो इससे सिर व दिमाग से सम्बन्धित बीमारीयाँ देखने को मिलेंगी। सुख-समृधि में रूकावट एवं यह थोड़ी सी धीमी हो जाएगी। बच्चों की शारीरिक व मानसिक बढ़ोतरी, थोड़ी सी रूक जाएगी। शिक्षा भी थोड़ी सी धीमी हो जाएगी।

3.  पूर्व

पूर्व दिशा में पानी की टैंकी रखने से घर के मुखिया के स्वास्थ्य में हानि होती है। वह बैठे बैठाए कलंकित हो सकता है। उसका घर में आदर-सत्कार समाप्त सा हो जाएगा। बच्चों का शारीरिक विकास व शिक्षा प्रभावित हो जाएगी।

4.  दक्षिण-पूर्व

दक्षिण-पूर्व में पानी की टैंकी बनाने से बचे तो अच्छा है। यदि यहाँ पर पानी की टैंकी बनाते हैं व उसमें पानी भरते हैं एवं उस में से पानी नही झलकता है तो वह ठीक है। यदि उस में से पानी झलकता है तो परिवार के रिस्तों में खट्टास कर देगा। आग से हानि होने की सम्भावना प्रबल रहेगी। महिलाओं के स्वास्थ्य में हानि करेगा। मध्यम उम्र के लड़के के विकास में बाधा उत्पन्न होगी।

5.  दक्षिण

दक्षिण में छत पर पानी की टैंकी बनाना बहुत अच्छा है। यहाँ पर पानी की टैंकी की नम्बर दो की स्थिती है। यहाँ पर यदि आप सीढ़ीयों के ऊपर मोमटी बनाते है व उस पर पानी की टैंकी बनाते हैं तो और भी बहुत अच्छा है। यहाँ पर पानी न झलके तो और भी बहुत अच्छा है।

6.  दक्षिण-पश्चिम

यहाँ पर पानी की टैंकी की नम्बर एक स्थिती है। यहाँ पर यदि आप सीढ़ीयों के ऊपर मोमटी बनाते है व उस पानी की टैंकी बनाते हैं तो और भी बहुत अच्छा है। यहाँ पर पानी न झलके तो और भी बहुत अच्छा है। यदि यहाँ पर पानी झलकता भी है तो थोड़ी सी धन की बर्बादी ज्यादा होती है। लेकिन ज्यादा डरने वाली बात नही है।

7.  पश्चिम

यहाँ पर पानी की टैंकी की नम्बर एक जैसी स्थिती है। यहाँ पर टैंकी से पानी झलक सकता है, आप ऊँचाई व भार दे सकते हैं। लेकिन ऊँचाई व भार के लिए एक अच्छी स्थिती दक्षिण-पष्चिम है। इसलिए पानी की टैंकी, ऊँचाई व भार के लिए यह नम्बर तीन की स्थिती है।

8.  उत्तर-पश्चिम

यहाँ पर आप तर्कसंगत सी ऊँचाई व भार दे सकते हैं। ज्यादा ऊँचाई व भार नही दे सकते हैं। यहाँ पर टैंकी से पानी झलक सकता है। यहाँ यदि आप पानी की टैंकी बनाते हैं तो उसे पाएं (legs) के उपर बनाएं। यहाँ पर यदि आप पानी की टैंकी को पाएं के उपर नही बनाते हैं तो रिस्तों में थोड़ी सी खट्टास आ जाएगी। ब्याह-शादी के लायक बच्चों की शादी में अड़चने आएंगी।

9.  केन्द्र

उत्तर-पूर्व की तरह केन्द्र पर भी पानी की टैंकी बहुत बुरी है। केन्द्र के उपर छत पर कभी भी पानी की टैंकी न बनाएं। इससे पेट से सम्बन्धित बीमारी - जीगर (Liver) की बीमारी आएगी। घर का मुखिया उदास रहेगा।

छत पर बनी पानी की टैंकी को काला रंग करें। काला रंग सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणों को सोखता है। ये किरणें कीटाणुओं को समाप्त करती हैं।

<< दिशा से दशा बदलो - विषय

Tags
No tags for this article
Rate this article
0