Home | Change Direction With Direction | सेप्टिक टैंक

Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

सेप्टिक टैंक

Font size: Decrease font Enlarge font

1.    उत्तर

उत्तर दिशा में सेप्टिक बहुत ठीक है।

2.    उत्तर-पूर्व

उत्तर-पूर्व में सेप्टिक टैंक बहुत बुरा है। उत्तर-पूर्व में सेप्टिक टैंक न बनाए, यदि बना हुआ है तो इसे उत्तर दिशा में बना लें। उत्तर-पूर्व में सेप्टिक टैंक आपकी जिन्दगी को तहस-नहस कर देगा। इससे कर्जा, बीमारी, बच्चों की शिक्षा, आपसी सम्बन्धों को बुरी तरह से प्रभावित कर देगा। अन्य कुप्रर्भाव भी देखने को मिलेंगे।

3.    पूर्व

पूर्व दिशा में यदि सेप्टिक टैंक बना हुआ है तो ठीक है, अगर बनाना है तो न बनाएं।

4.    दक्षिण-पूर्व

दक्षिण-पूर्व में सेप्टिक टैंक अच्छा नही है। इससे आपकी सुख-समृधि, भौतिक-सुख में कमी आएगी। यदि आपके पास भौतिक-सुख सम्पदा है तो आप उनका सही तरीके से सुख नही भोग पाएंगे। घर की महिलाओं व मध्यम उम्र के लड़के के स्वास्थय में हानि, व्यवसाय में गिरावट, आपसी सम्बन्धों में खट्टास होगी। आग से क्षति होने की सम्भावना प्रबल रहेगी।

5.    दक्षिण

दक्षिण दिशा में सेप्टिक टैंक कभी न बनाएं, यह भी बहुत-बहुत बुरा है। इससे कर्जे तक की नौबत आ जाएगी। सम्बन्धों को खराब कर देगा। घर के मुखिया के स्वास्थय में हानि कर देगा।

6.    दक्षिण-पश्चिम

दक्षिण-पश्चिम का सेप्टिक टैंक उत्तर-पूर्व के बाद बहुत अनर्थकारी है। इससे आमदनी अठ्ठनी खर्चा रूपया जैसी स्थिती होगी। खर्चा तरीके से नही होगा। खर्चा ऐसी-ऐसी जगह खर्च होगा जिसका आपकी जिन्दगी से कोई सीधा सम्बन्ध नही है। गलत आदमी को कर्जा दिया व कर्जा वापिस ही नही आया। घर के मुखिया की बीमारी पर खर्चा, चला-चलाया व्यवसाय ठप होने जैसी नौबत आ जाएगी।

7.    पश्चिम

पश्चिम में भी सेप्टिक टैंक अच्छा है।

8.    उत्तर-पश्चिम

यदि उत्तर-पश्चिम में सेप्टिक टैंक बनाना है तो उत्तर-पश्चिम के अक्ष पर न बनाए। इस दिशा में आप उत्तर वाली दिशा के नौ बराबर हिस्से करें व उत्तर-पूर्व में दो हिस्से छोड़कर तीसरे, चौथे व पांचवे हिस्से पर सेप्टिक टैंक बनाए। यदि ऐसा नही करते तो दोस्त-दुश्मन, अपने-पराये, अच्छी-भली साझेदारी टूटने के कगार पर, आपसी सम्बन्ध टूटने के कगार पर, चोरी-ठग्गी, मुकदमे की सम्भावना प्रबल रहेगी।

9.    केन्द्र

केन्द्र में सेप्टिक टैंक मत बनाए, यहाँ पर यह घातक है। इससे भी उत्तर-पूर्व की तरह सुख-समृधि समाप्त होगी।

<< दिशा से दशा बदलो - विषय

Tags
No tags for this article
Rate this article
5.00