Home | ‌‌‌योग

Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

‌‌‌योग

यस्तिकासन, Yastikasana, Stick Pose

  शारीरिक यथास्थिती उदर के बल लेटकर किया जाने वाला आसन है। अभ्यास विधि पीठ के बल लेट जाएं। श्वास लेते हुए दोनों हाथों को सिर के ऊपर ले जाते
Full story

मकरासन, Crocodile pose

मकर शब्द का हिंदी रूपांतरण ‘मगर’ हैं। अंग्रेजी भाषा में इसे 'Crocodile Pose' कहते हैं। अत: इस योग को करते समय आपके शरीर की रचना...
Full story

शाम्भवी मुद्रा में ध्यान

  ध्यान लगातार चिंतन, मनन की एक क्रिया है। शारीरिक यथास्थिती: कोर्इ भी ध्यानात्मक आसन। अभ्यास विधि: * सर्व प्रथम किसी भी ध्यानात्मक आसन में बैठना चाहिए। * मेरूदण्ड को...
Full story

भ्रामरी प्राणायाम

भ्रामरी शब्द भंवरे से लिया गया है, जिसका मुख्य अर्थ भंवरे है। इस प्राणायाम के अभ्यास के समय निकलने वाला स्वर भंवरे के भिनभिनाने के...
Full story

नाड़ीशोधन प्राणायाम

  पर्यायवाची: अनुलोम-विलोम प्राणायाम इस प्राणायाम की मुख्य विशेषता यह है कि बाएं एवं दाएं नासिकारन्ध्रों के द्वारा एकान्तर रूप से श्वास प्रश्वास रोके श्वासन करना चाहिए। शारीरिक...
Full story

शवासन

  शव शब्द का अर्थ मृत देह है। इस आसन में अंतिम अवस्था एक मृत देह जैसी होती है। शारीरिक यथास्थिती: शिथिल मुद्रा, पीठ के बल लेटकर...
Full story

पवनमुक्तासन

  पवन शब्द का अर्थ वायु और मुक्त शब्द का अर्थ छोड़ना या मुक्त करना है। जैसा कि इस अभ्यास के नाम से ही पता चलता...
Full story

सेतुबंधासन

  पर्यायवाची: कटुस्पादासन सेतुबंध शब्द का अथ्र सेतु का निमार्ण है। इस आसन में शरीर की आकृमि एक सेतु की अवस्था में रहती है, इसलिए इसे यह...
Full story

मकरासन

  संस्कृत में मकर शब्द का अर्थ मगर या घड़ियाल होता है। इस आसन में शरीर की स्थिती मगर की आकृति के समान हो जाती है...
Full story

शलभासन

  शलभ शब्द का अर्थ टिड्डी होता है जो एक प्रकार का कीट होता है। शारीरिक यथास्थिती: मकरासन, उदर के बल लेटकर किया जाने वाला आसन अभ्यास विधि: *...
Full story

भुजंगासन

भुजंग शब्द का अर्थ सांप, सर्प, नाग है। इस आसन में शरीर की आकृति सांप के फन की तरह ऊपर उठती है जिसके कारण इस...
Full story

वक्रासन

  वक्र का अर्थ घुमाव या ऐंठन है। इस आसन के अभ्यास में मेरूदण्ड की अस्थि को घुमाते हैं, जिससे शरीर की आकृति वक्र हो जाती...
Full story

शशांकासन

  शशांकासन का अर्थ है ‌‌‌खरगोश। चूंकि इस आसन के अभ्यास में शरीर की आकृति खरगोश जैसी बनती है इसलिए इस आसन को शशंकासन कहते हैं। शारीरिक...
Full story

दिल व मधुमेह में कारगर योग

  निरोग रहने के लिए योग का महत्त्व तो सभी को पता है लेकिन अब योग का प्रयोग गैर संक्रामक बीमारीयों को नियन्त्रित करने के लिए...
Full story

कपालभाति

शारीरिक यथास्थिती: कोर्इ भी ध्यानात्मक आसन जैसे सुखासन, पद्मासन या वज्रासन आदि। अभ्यास विधि: * सर्व प्रथम किसी भी ध्यानात्मक आसन में बैठना चाहिए। * आँखें बंद...
Full story

अर्ध उष्ट्रासन

उष्ट्र शब्द का अर्थ ऊँट है। इस आसन के अभ्यास की अंतिम अवस्था ऊँट के कूबड़ या उभार की स्थिती जैसी बनती है। इस आसन...
Full story

भद्रासन

भद्र शब्द का अर्थ दृढ़, सज्जन या सौभाग्यशाली होती है। शारीरिक यथास्थिती: बैठी हुर्इ मुद्रा (विश्रामासन) अभ्यास विधि: * सर्वप्रथम दोनों पैरों को सामने की ओर सीधे...
Full story

त्रिकोणासन

त्रिकाणासन शब्द का अर्थ है ‘त्रि‘ अर्थात तीन कोणों वाला असान। चूँकि आसन के अभ्यास के समय शरीर एवं पैरों से बनी आकृति तीन भुजाओं...
Full story

अर्धचक्रासन

अर्ध शब्द का अर्थ है आधा तथा चक्र का अर्थ है पहिया। इस आसन में चूँकि शरीर आधे पहिए की आकृति जैसा बनता है, इसलिए...
Full story

पादहस्तासान

पादहस्तासन का अर्थ है पाद अर्थात पैर, हस्त, अर्थात हाथ। इस आसन के अभ्यास में हथेलियों को पैरों की तरफ नीचे ले जाया जाता है।...
Full story
1 2 next total: 32 | displaying: 1 - 20