Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

वासावलेह

Font size: Decrease font Enlarge font

गुण व उपयोग: वासावलेह के सेवन से खाँसी, श्वास, रक्तप्रदर, रक्तपित्त, खूनी बवासीर, रक्तमिश्रित दस्त, पुरानी कफज खाँसी, श्वास-नलिका की सूजन, न्यूमोनिया, प्लूरिसी, इन्फ्लुएन्जा के बाद की खाँसी आदि में लाभ मिलता है।

मात्रा व अनुपान: 6 से 10 ग्राम, दिन में दो बार शहद या रोगानुसार अनुपान के साथ।

Tags
No tags for this article
Rate this article
0