Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

लऊक सपिस्ताँ

Font size: Decrease font Enlarge font

गुण व उपयोग: लऊक सपिस्ताँ के सेवन से कठिन से कठिन नजला, जुकाम आदि रोग शीघ्र नष्ट होते हैं। कास-श्वास रोग में भी उत्तम ‌‌‌लाभकारी है।

मात्रा व अनुपान: 6 से 10 ग्राम, ‌‌‌प्रात:-शाम चाटकर ऊपर से सुखोष्ण पानी पी लें।

Tags
No tags for this article
Rate this article
0