Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

मदनानन्द मोदक

Font size: Decrease font Enlarge font

गुण व उपयोग: मदनानन्द मोदक के उपयोग से बल-वीर्य की वृद्धि, रति-शक्ति की वृद्धि व स्तम्भन शक्ति प्राप्त होती है। यह अपस्मार, ज्वर, उन्माद क्षय, वातव्याधि, कासव्याधि, कासश्वास, शोथ, भगन्दर, अर्श, ग्रहणी, बहुमूत्र, प्रमेह, शिरोरोग, अरूचि व वातिक-पैतिज और कफज रोग आदि में लाभ प्रदान करता है। यह संग्रहणी व मन्दाग्नि की उत्तम दवा है। इसका सेवन वैद्य की देखेरख में ही करना चाहिए।

मात्रा व अनुपान: 3 से 6 ग्राम, दूध या पानी के साथ।

Tags
No tags for this article
Rate this article
0