Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

सुखविरेचन चूर्ण

Font size: Decrease font Enlarge font

गुण व उपयोग - यह कब्ज को नष्ट करने वाला है। इसके सेवन से जठराग्नि प्रदीप्त होती है व आँव का पाचन होता है। इससे किसी प्रकार की आंतों में जलन नही होती।

मात्रा व अनुपान - 3 से 6 ग्राम, रात को सोते समय गर्म पानी के साथ।

Tags
No tags for this article
Rate this article
0