Home | आयुर्वेद संग्रह | आर्युवै​दिक चूर्ण | शान्तिवद्र्धक चूर्ण

Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

शान्तिवद्र्धक चूर्ण

Font size: Decrease font Enlarge font

गुण उपयोग - इस चूर्ण के सेवन से मन्दाग्नि, भूख लगना, जी मिचलाना, अपचन, अफारा, अम्लपित्त और समस्त प्रकार के उदरशूल आदि विकार नष्ट होते हैं। यह स्वाद में रूचिकर है।

मात्रा अनुपान - 2 से 4 ग्राम, भोजन के बाद पानी के साथ या ​बिना पानी के सीधा भी खाया जा सकता है।

Tags
No tags for this article
Rate this article
0