Home | आयुर्वेद संग्रह | आयुर्वेदिक ‌‌‌मलहम

Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

आयुर्वेदिक ‌‌‌मलहम

हरा मलहम

गुण व उपयोग: यह मलहम घावों का शोधन कर, फोड़े को पका कर फोड़ने वाला (विदारक) है। यदि व्रणशोथ पक जाने पर भी नही फूटता
Full story

शीतल मलहम

गुण व उपयोग: इसके लगाने से पानी वाली खुजली की फुंसीयाँ तत्काल फूट जाती हैं व बार-बार इसी को कुछ रोज तक लगाने से आराम...
Full story

श्वेत मलहम

गुण व उपयोग: बच्चों की गुदा एवं मूत्रेन्द्रिय आस-पास के स्थान की सूजन व पाक में तथा अन्य फोड़े, फुंसी, बवासीर आदि में इससे लाभ...
Full story

बिरोजे का लाल मलहम

गुण व उपयोग: यह जख्मों को शुद्ध कर उन्हे भरने का काम करता है। दर्द वाले स्थान पर इस मलहम की पट्टी लगाने से पूर्व...
Full story

महात्मा जी का मलहम

गुण व उपयोग: महात्मा जी के मलहम को जिस फोड़े पर लगाना हो, पहले कपड़ेकी गोलाकार उतनी ही बड़ी पट्टी काट लें, बीच में जरा-सा...
Full story

नासूरनाशक मलहम

गुण व उपयोग: आवश्यकता पड़ने पर नासूर के मुख पर लगा कर ऊपर से आक के पत्ते तीन दिन के लिए बांध दें। तीन दिन...
Full story

नेत्ररोगहर मलहम

गुण व उपयोग: आँख आने पर नेत्ररोगहर मलहम का उपयोग करने से शीघ्र लाभ मिलता है।...
Full story

जीवन्त्यादि मलहम

गुण व उपयोग: जीवन्त्यादि मलहम को खारीश, घाव, बवासीर के मस्से, हाथ-पाँव के तलवे फटने एवं पाँव की अंगलियों के पके हुए हिस्सों पर लगाने...
Full story

चर्मरोगनाशक मलहम

गुण व उपयोग: इसके लगाने से दाद, खाज, नासुर, भगन्दर, छोटी-छोटी फुंसीयां, फोड़े-फुंसी आदि ठीक हो जाते हैं।...
Full story

घाव की उत्तम मलहम

गुण व उपयोग: यह मलहम सब तरह के घावों में फायदा करती है। नीम के पत्तों के पानी से घावों को अच्छी तरह धोकर दिन...
Full story

गुलाबी मलहम

गुण व उपयोग: इस मलहम के उपयोग से खाज, खुजली, आग से जला हुआ घाव व बवासीर के मस्से ठीक हो जाते हैं व दर्द...
Full story

काला मलहम

गुण व उपयोग: मवाद वाले फोड़ों पर इस मलहम की मोटे कपड़े पर पट्टी बनाकर लगाने से मवाद बाहर निकल आता है व आगे बनना...
Full story

उपदंशहर मलहम

गुण व उपयोग: गर्मी (उपदंश), आतशक के कारण जननेन्द्रिय के ऊपर या भीतर हुए घावों व चकतों पर लगाने से जल्दी ठीक हो जाते हैं।...
Full story
total: 13 | displaying: 1 - 13