Home | आयुर्वेद संग्रह | आयुर्वेदिक रस

Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

आयुर्वेदिक रस

अग्नितुण्डी वटी रस

गुण व उपयोग: अग्नितुण्डी वटी रस के सेवन से मन्दाग्नि, अजीर्ण, पेट के कीड़े, कमजोरी आदि में लाभ मिलता है। यह दीपन, पाचन व वात-नाशक
Full story

अजीर्णकण्टक रस

गुण व उपयोग: अजीर्णकण्टक रस के सेवन से अजीर्ण, मन्दाग्नि, कब्जियत आदि रोगों में लाभ मिलता है। यह जठराग्नि को प्रदीप्त करता है। यह भूख...
Full story

अजीर्णारि रस

गुण व उपयोग: अजीर्णारि रस के सेवन से मन्दाग्नि, अजीर्ण, कब्जियत, पेट फूलना आदि रागों में लाभ मिलता है। यह जठराग्नि को प्रदीप्त करता है...
Full story

अग्निसन्दीपन रस

गुण व उपयोग: अग्निसन्दीपन रस मन्दाग्नि, अजीर्ण, अम्लपित्त, शूल और गोला आदि में सेवन से उत्तम लाभ प्रदान होता है। यह पाचन तन्त्र को ठीक...
Full story
first back 11 total: 204 | displaying: 201 - 204
Log in
Featured author
Dr. K.L. Dahiya image Veterinary Surgeon, Department of Animal Husbandry & Dairying, Haryana - India