Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

शूलनाशन रस

Font size: Decrease font Enlarge font

गुण व उपयोग: शूलनाशन रस वातजन्य शूल, पेट दर्द में उत्तम लाभ करता है। यह रस दीपन पाचन होने के कारण अग्निमांद्य, अतिसार, ग्रहणी तथा विसूचिका रोग को नष्ट करता है।

मात्रा व अनुपान: 125 मिलीग्राम, दिन में दो बार गर्म पानी अथवा रोगानुसार अनुपान के साथ।

Rate this article
0