Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

जवाहर मोहरा रस

Font size: Decrease font Enlarge font

गुण व उपयोग: जवाहर मोहरा से के सेवन से समस्त प्रकार के हृदय रोग, हृदय व फेफड़ों की दुर्बलता, घबराहट, धड़कन आदि में शीघ्र लाभ मिलता है। यह हृदय को बल देने वाला है। जवाहर मोहरा (साधारण) के अलावा स्वर्ण-मुक्ता-कस्तूरी-अम्बरयुक्त व स्वर्ण-रौपय आदि से युक्त भी उपलब्ध हैं जो कि जवाहर मोहरा (साधारण) से अधिक गुण वाले होते हैं।

मात्रा व अनुपान: 1-1 गोली, दिन में 2-3 बार रोगानुसार अनुपान के साथ।

Rate this article
0