Home | स्वास्थ्य | ‌‌‌नारी स्वास्थ्य | महिलाओं को बरसात के दिनों में होने वाली परेशानियां, Difficulties Faced by Ladies in Monsoon

Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

महिलाओं को बरसात के दिनों में होने वाली परेशानियां, Difficulties Faced by Ladies in Monsoon

Font size: Decrease font Enlarge font

वर्षाकाल में होने वाली नमी से फफूंद होने के कारण यीस्ट संक्रमण होता है। गीले वस्त्र न बदलने से भी संक्रमण हो सकता है। बाढ़ के दिनों में कमर तक चढ़े पानी में से निकलने से भी योनि में संक्रमण होता है।

योनि स्वच्छता से जुड़े मिथक (Myth Related to Vaginal Hygiene)

टेलकम पाउडर रोजाना इस्तेमाल करना चाहिए।

रगड़कर बेहतर साफ़ किया जाना चाहिए।

डूशिंग योनि का साफ़ रखता है।

साबुन से साफ़ करना चाहिए। योनि की प्रकृति अम्लीय होती है और इसमें कुदरती स्वस्थ जीवाणु होते हैं जो संक्रमण से बचाते हैं। साबुन रसायन युक्त होते हैं जो पी-ऍच बैलेंस और स्वस्थ जीवाणुओं को डिस्टर्ब करते हैं। साथ ही साबुन में तेज तत्व होते हैं जिनसे खुजली हो सकती है। इसलिए नाज़ुक स्थान को एक जेंटल पी-ऍच बैलेंस वाला क्लीन्सर चाहिए होता है जो नुकसान पहुंचाने वाले जीवाणुओं और फफूंद को ख़त्म कर सके।

Rate this article
5.00