Home | स्वास्थ्य | ‌‌‌नारी स्वास्थ्य | पेशाब के दौरान दर्द और जलन के कारण

Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

पेशाब के दौरान दर्द और जलन के कारण

Font size: Decrease font Enlarge font

यदि पेशाब करने में समस्या (दर्द), गुप्तांगों में खुजली और जलन होती है तो आपको मुत्रकृच्छ होने की सम्भावना हो सकती है। आम तौर पर मुत्रकृच्छ (urinary infection) महिलाओं में पाया जाता है। महिलाएं जो मासिक धर्म से गुजरती हों या गर्भवती होती हैं उन्हें इस समस्या का सामना करना पड़ता है। महिलाओं को पेशाब करते समय, दर्द और जलन जैसी परेशानी होती है। इस दौरान कई महिलाओं के सफ़ेद पानी भी निकलता है। पुरे दिन गुप्तांग गीला रहने से संक्रमण बढ़ता है।

पुरुषों में यह संक्रमण कम पाया जाता है। बड़ी उम्र के पुरुषों में यह समस्या ज्यादा पायी जाती है। यह संक्रमण सही देखभाल न करने से और बुरी आदतों के कारण होता है। मूत्रमार्ग का संक्रमण हानिकारक कीटाणुओं के कारण से होता है। इसलिए गुप्तांगों की सही देखभाल करके उन्हें साफ़ रखना आवश्यक होता है।

मूत्र संक्रमण के कारण (Causes of Urinary Infection)

मूत्राशय (urinary bladder) का संक्रमण

गुप्तांगों में दाद (genital herpes)

मूत्राशय की पत्थरी (Stone in Urinary Bladder)

सुजाक (Gonorrhea)

गुर्दे की पत्थरी (Kidney Stone)

गुर्दे का संक्रमण (Kidney Infection)

यौन संचारित रोग (Urinary Transmitted Diseases)

प्रोस्टेट की सूजन (Prostate Swelling)

योनी का संक्रमण (Vaginal Infection)

मूत्रमार्ग का संक्रमण (Urinary Track Infection)

खमीर का संक्रमण (Yeast Infection)

कैंसर के इलाज के दौरान इस्तेमाल कि गई दवाओं से भी जलन और मूत्रमार्ग में संक्रमण हो सकता है।

रसायनों (chemicals) से बने साबुन, इत्र भी पेशाब की जलन और दर्द पैदा कर सकते हैं।

मूत्रमार्ग का कोई भी भाग संक्रमित (Infected) हो सकता है जैसे

मूत्राशय (Urinary Bladder)

गुर्दा (Kidney)

मुत्रवाहिनी (Ureter)

मूत्रपथ (Urinary Track)

मूत्रमार्ग के संक्रमण (Infection) होने के कई कारण होते हैं जैसे (Causes of Urinary Track Infection)

गर्भावस्था के दौरान hormones के level में बदलाव और रजोनिवृत्ति (menopause) के दौरान यह संक्रमण हो सकता है।

डायबिटिस Diabetes होना मूत्रमार्ग का संक्रमण होने का कारण हो सकता है।

पुरुषों में ख़ास कर बढती उम्र के पुरुषों में यह पाया जाता है।

मूत्र कैथेटर या नली।

पत्थरी (stone)।

प्रोस्टेट ग्रंथि (prostate gland) की वृद्धि।

Urinary Infection के लक्षण

पेशाब के दौरान दर्द के अलावा संक्रमण के और कई लक्षण होते हैं जैसे

जलन होना (Burning Sensation)

खुजली (Itching)

गुप्तांग से सफ़ेद पानी निकलना (white discharge)

गुप्तांगों का दाद (genital herpes)

बुखार (Fever)

पीठ का दर्द (Back Ache)

पेशाब में बदबू आना

पेशाब में खून आना

पेशाब से पत्थरी निकलना

बार-बार पेशाब आना

ऐसे लक्षण दिखने पर विशेषज्ञ की सलाह लें। कुछ घरेलु उपायों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके बाद भी अगर कुछ सुधार न हो तो चिकित्सक की सलाह से सही दवाइयां लें।

Tags
No tags for this article
Rate this article
5.00