Home | स्वास्थ्य | ‌‌‌नारी स्वास्थ्य | परेशानियां जिनके बारे में बोलने में महिलाएं शर्माती हैं

Sections

Newsletter
Email:
Poll: Like Our New Look?
Do you like our new look & feel?

परेशानियां जिनके बारे में बोलने में महिलाएं शर्माती हैं

Font size: Decrease font Enlarge font

मानव शरीर बहुत जटिल किन्तु मनोरंजक है। शरीर की संरचना और गतिविधि की जानकारी के बावजूद हम कई बार मुश्किल में पड़ जाते हैं। सबसे ज्यादा परेशानियां महिलाओं को होती हैं जो असंख्य समस्याएं झेलती हैं। महिलाओं की हर बार बदलती हार्मोनल चक्र और अनगिनत शारीरिक और मानसिक स्थिति, इस सबके साथ यौन समस्याओं का तो कहना ही क्या! ये सब कभी-कभी इतना ज्यादती तौर पर शर्मसार करता है कि ऐसी बातें करने में महिलाएं कतराती हैं। यहाँ पर स्वास्थ्य सम्बन्धी ऐसी बातें दी जा रही हैं जिनके विषय में महिलायें सलाह नहीं ले पाती जो कि गलत होता है।

निप्पल्स के आस पास बाल (Hair Around Nipples): निप्पल्स के आस पास बालों का होना अजीब लगता है इसलिए महिलाएं इस बारे में चुप ही रहती हैं। इससे शारीरिक अंतरंगता (Physical intimacy) के दौरान शर्म का एहसास होता है। परन्तु किशोरावस्था में, प्रेगनेंसी के दौरान और रजोनिवृत्ति (Menopause) के वक़्त ऐसा होना साधारण बात है क्योंकि इस वक़्त शरीर में अनेकों प्रकार से हारमोंस में बदलाव आ रहे होते हैं।

अत्यधिक योनि स्राव (Heavy Vaginal Discharge): अक्सर महिलाएं अधिक और सामान्य स्राव में अन्तर नहीं कर पाती और सलाह से वंचित रह जाती हैं। अत्यधिक दुर्गन्धपूर्ण स्राव संक्रमण की ओर इशारा करता है जो कैंडिडाय्सिस नामक फफूंद से होता है जिससे खुजली होती है और ये दही की तरह गाढ़ा होता है। दूसरा संक्रमण जीवाणुओं से होता है जो पतला और हरे रंग का होता है और इसमें भी बदबू होती है।

अत्यधिक मासिक रक्तस्राव (Heavy Menstrual Bleeding):

अधिक स्राव या लम्बे समय तक चलने वाला स्राव अधिकतर महिलाओं को होता है, और ये कुछ गांठों यानी फ़ाइब्रोइद्स की वजह से होता है जो कैंसर वाली नहीं होती। हार्मोन में बदलाव और ब्लड क्लॉट में गड़बड़ होने से भी अधिक बहाव होता है।

चेहरे पर बाल (Facial Hair): हरेक महिला अपने जीवनकाल में कभी न कभी होठों या ठुड्डी पर बाल की शिकायत करती ही है। पर यही तकलीफ हारमोंस में जबरदस्त बदलाव की वजह से मुसीबत बन जाती है। इससे छुटकारा पाने के लिए विभिन्न प्रकार के लेज़र ट्रीटमेंट उपलब्ध हैं जो इन बालों को हटाते हैं।

योनि में बदलाव (Change in Vagina): बदलाव प्रकृति का नियम है और शरीर के बाकी अंगों की तरह उम्र के साथ योनि में भी बदलाव आते हैं। सम्भोग होने के बाद दो साल में ही योनि का ढीला हो जाना, सूखापन महसूस होना एवं संसर्ग के दौरान दर्द भी हो सकता है। किन्तु ये सभी समस्याएं सुलझाई जा सकती हैं।

Tags
No tags for this article
Rate this article
5.00